Saturday, May 14, 2022
HomeHaryana Government SchemesMera Paani Meri Virasat Yojana || Apply Online

Mera Paani Meri Virasat Yojana || Apply Online

 

हर कोई जानता है की जल ही जीवन है | हम बिना भोजन के फिर भी रह सकते है परन्तु बिना पानी के जीवन संभव नहीं है | अगर हमें अपने आने वाले कल को सुरक्षित करना है तो हमें पानी की एक – एक बूँद को बचाना होगा | हमारा प्रत्येक काम पानी से ही शुरू होता है और पानी पर ही ख़तम होता है | पानी के बिना हम अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते | 
” इत्तेफाक रखो बस इतनी सी कहानी से की हम सब का जीवन निकला था पानी से, यूँ बर्बाद ना करो इसे मेरे दोस्तों …  नहीं मिलता ये आसानी से | “  
हरियाणा राज्य सरकार हमेशा अपने नागरिकों के हित की सोचती है और उन्हें हमेशा उज्जवल भविष्य की और अग्रसर करती है | हरियाणा सरकार ने पानी की बूँद – बूँद को बचाने के लिए एवं पानी का सही तरीके से उपयोग हो इसके लिए एक योजना का शुभारम्भ किया है जिसका नाम मेरा पानी मेरी विरासत योजना रखा गया है | इस योजना के अंतर्गत पहले चरण में राज्य के 19 ब्लॉक शामिल है जिसमे भूमि – जल की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है | इनमें से 8 ब्लॉक ऐसे है जिसमें धान की रोपाई ज्यादा होती है जिनमे मुख्यतः कैथल के सीवन और गुहला, सिरसा, फतेहाबाद के रतिया और कुरुक्षेत्र के शाहाबाद, इस्माइलाबाद, पीपली और बाबैन शामिल है | इस योजना के तहत उन क्षेत्रों को भी शामिल किया गया है जहां 50 हॉर्स पावर से अधिक क्षमता वाले टूबवेल का उपयोग हो रहा है | योजना के अंतर्गत जिन भी ब्लॉक में 35 मीटर से निचे पानी है वहां धान की खेती की अनुमति नहीं है |      
Areas Covered Under Mera Paani Meri Virasat Yojana :

  • रतिया 
  • सीवन 
  • गुहला 
  • पीपली 
  • बाबैन 
  • सिरसा 
  • इस्माइलाबाद
  • शाहाबाद 
Key Facts of Mera Paani Meri Virasat Yojana :
  • ड्रिप इर्रिगेशन सिस्टम के तहत खेती करने से 85 % तक की सब्सिडी दी जाएगी | 
  • योजना के अंतर्गत जिन भी ब्लॉक में 35 मीटर से निचे पानी है वहां धान की खेती की अनुमति नहीं है | 
  • किसानों को उन जगहों पर धान की खेती करने की अनुमति नहीं मिलेगी जहां बीते साल धान की खेती नहीं की गयी थी | 
  • इस योजना के तहत उन क्षेत्रों को भी शामिल किया गया है जहां 50 हॉर्स पावर से अधिक क्षमता वाले टूबवेल का उपयोग हो रहा है | 
Benefits of Mera Paani Meri Virasat Yojana : 
  • मेरा पानी मेरी विरासत योजना का लाभ केवल हरियाणा राज्य के किसान को ही मिल सकता है और इसे जल संरक्षण को बढ़ावा देने हेतु शुरू किया है | 
  • ड्रिप इर्रिगेशन सिस्टम के तहत खेती करने से 85 % तक की सब्सिडी दी जाएगी | 
  • योजना के तहत मक्का, अरहर, मूंग, उड़द, तिल, कपास और सब्ज़ी की खेती की जाएगी और साथ ही इन फसलों की खरीद Minimum Support Price पर की जाएगी |
  • योजना के अंतर्गत अगर किसान डार्क जोन में शामिल क्षेत्रों में धान की खेती को बंद करते है तो उन्हें सरकार की तरफ से 7,000 रुपए की धनराशि मिलेगी |   
  • योजना के तहत एक वेब – पोर्टल बनाया जाएगा जिसके माध्यम से सभी किसान भाई अपनी समस्याओं से छुटकारा पा सकेंगे |       
Eligibility and Necessary Documents for Mera Paani Meri Virasat Yojana :
  • मेरा पानी मेरी विरासत योजना का लाभ केवल हरियाणा राज्य के किसान को ही मिल सकता है | 
  • आधार कार्ड 
  • पहचान पत्र 
  • बैंक अकाउंट 
  • खेती की जमीं के कागजात 
  • मोबाइल नंबर 
  • पासपोर्ट फोटो 
How to Apply for Mera Paani Meri Virasat Yojana :

  • सबसे पहले लाभार्थी को मेरा पानी मेरी विरासत योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा जिसके बाद आपके सामने एक होम पेज खुल कर आएगा | 
  • इस होम पेज पर आपको New Registration के विकल्प का चयन करना होगा जिसके बाद आपके सामने एक पेज खुल जाएगा | 
  • इस पेज पर आपको अपना आधार नंबर दर्ज करना होगा और फिर नेक्स्ट के बटन पर क्लिक करना होगा जिसके बाद आपको अपनी फॉर्मर डिटेल्स भरनी होगी और फिर टोटल लैंड होल्डिंग एवं क्रॉप डिटेल्स भी भरनी होगी | 
  • इन सभी जानकारी को भरने के बाद आपको अपना फॉर्म सबमिट करना होगा जिससे आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा | 
How to Apply for Flood Affected Area :

  • सबसे पहले लाभार्थी को मेरा पानी मेरी विरासत योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा जिसके बाद आपके सामने एक होम पेज खुल कर आएगा | 
  • इस होम पेज पर आपको बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के विकल्प का चयन करना होगा जिसके बाद आपके सामने एक पेज खुल जाएगा | 
  • इस पेज पर आपको फॉर्मर रजिस्ट्रेशन के लिए फॉर्म को भरना होगा जिसमे पूछी गयी सभी जानकारी सही होनी चाहिए | 
  • सभी जानकारी को भरने के बाद आपको सबमिट करना होगा जिसके बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा |  
Objectives of Mera Paani Meri Virasat Yojana : 

आप लोग जानते है की हरियाणा में आज भी कई गाँव ऐसे है जहा पानी की कमी है ओर उस पानी की कमी के कारण लोग चने की खेती एवं धान की खेती नहीं कर पाते है इसलिए हमारे मुख्यमंत्री जी ने किसान भाइयों से अनुरोध किया है की ऐसी जगह उस अनाज की खेती ना करे जिसमें पानी की बरबादी ज्यादा हो | वर्तमान समय में हरियाणा सरकार ने अन्य फसलों की खेती करने वाले किसान भाइयो को मेरा पानी मेरी विरासत योजना के माध्यम से 7 हजार रूपए प्रति एकड़ की धनराशि से मदद कर रही है | जल संरक्षण को बढ़ावा देना ही इस योजना का मुख्य उद्देश्य है | 

Contact Details :
Tel. : 0172 – 2571553, 2571544
Helpline Number : 1800 – 180 – 2117
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments